Friday, November 15, 2019

Top 10 Moral stories in hindi for Kids बच्चो के लिए टॉप 10 नैतिक एवं शिक्षापद्र कहानियां हिंदी में

Top 10 Moral stories in hindi for Kids बच्चो के लिए टॉप 10 नैतिक एवं  शिक्षापद्र कहानियां हिंदी में 





top-10-moral-stories-in-hindi-for-kids-hindi-stories-with-moral-storybaaz.in-storybaaz





1.  घमंडी कौवा  - Moral stories in Hindi for kids.


किसी नगर में एक राजा रहता था वह बहुत ही दयालु था . उसे जानवर और पक्षियों से काफी प्यार रहता था .वह कभी भी किसी जानवर या पक्षी को दुःख नही पहुचता था यही कारण था कि वह हमेशा अपने भोजन से पहले अपने थाली से भोजन का आधा भाग अपने छत पर पक्षियों के लिए रख देता था . प्रत्येक दिन  रखी  रखी हुई भोजन को एक कौवे  खा जाता था जिसके कारण कौवा काफ़ी स्वस्थ और मजबूत हो गया था . कौवे को भोजन आसानी से  मिल जाने के कारण उसे कभी भी भोजन की तलाश नही करने पडती थी . एक दिन कौवा भोजन करने के बाद समुन्द्र तट पर सैर के लिए  निकल गया . समुन्द्र में कौवे को कुछ हंस दिखाई पड़ा , वह कुछ हंसों के  साथ समुन्द्र में मछलियाँ पकड रहा था . हंस फुदक-फुदक के उड़ता और फिर पानी में में मछलियाँ पकड़ने लगता  .  उसे देखकर कौवे को ऊँचे उड़ने के लिए खुद पर  घमंड हुआ और उसने हंस को कम उचाई तक उड़ने के कारण मजाक उड़ाने लगा . कौवे की बात सुनकर हंस को बुरा लगा परन्तु उसने कुछ नही बोला . इस प्रकार कौवे का और भी मजाक उड़ाने लगा . कौवे ने हंस को एक चुनौती दे डाली कहा अगर तुम  उड़ कर  मेरे इतना दुरी कभी तय कर ही नही सकती हो क्योकि तुम सब को उड़ना ही नही आती हैं .इस पर भी हंस ने कुछ नही बोला लेकिन जब कौवे ने कई बार चुनौती के लिए ललकारा तब उसने उड़ने के लिए तैयार हो गया और एक शर्त रखी कि हम दोनों समुन्द्र के उस पार चलेंगे . इस पर घमंडी कौवे ने बिना कुछ सोचे -समझे शर्त मान लिया और उड़ना शुरू कर दिया . कौवे पूरी जोश के साथ उड़ता रहा मगर हंस आराम - आराम से उड़ता जा रहा था उड़ते उड़ते दोनों समुन्द्र के बीचो -बीच पहुँच गया परन्तु अब कौवे पूरी तरह से थक चूका था और उसकी सांसे फूलने लगा . और देखते ही देखते थक कर समुन्द्र में गिर पड़ा जिसके कारण कौवे पानी में डूब गया और उसकी मृत्यु हो गया लेकिन तब तक उड़ते -उड़ते हंस भी थक चूका था ,जिसके कारण वह पानी में तैरने लगा और वह तैर कर वापस आ गया . Moral Stories in Hindi 

शिक्षा : -  ( hindi stories with moral )

इस कहानी से हमें यह सिख मिलती हैं की हमे किसी काम के लिए खुद पर कभी घमंड नही करनी चाहिए और नही कभी किसी का  मजाक उड़नी  चाहिए .


2. मन का हार  - Top 10 Moral Stories in Hindi for kids.

एक बार एक व्यक्ति हाथी को एक रस्सी से बांध कर ले जा रहा था , सडक किनारे खड़े दुसरे व्यक्ति को  यह देख कर बहुत आश्चर्य हुआ . वह सोचने लगा इतना बड़ा जानवर को इतनी कमजोर रस्सी से कैसे बांध कर ले जा रहा है और हाथी भी  चुप-चाप उसके साथ उसके इशारे से जा रहा हैं . यह सब देख कर उसे रहा नही गया उसने हाथी वाले से यह प्रश्न पूछ ही लिया , आखिर यह कैसे संभव हुआ . हाथी वाले ने मुस्कुराते हुए समझाया  और कहा जब हाथी छोटा होता  हैं  तब उसे एक रस्सी से बांध दिया जाता हैं  , उस समय हाथी उसे तोड़ने का बहुत प्रयास करता हैं मगर जब वह रस्सी उससे नही टूटता हैं तो वह प्रयास करना छड देता हैं उसके बाद जब वह बड़ा हो जाता हैं तब भी उसे तोड़ने का प्रयास नही करता हैं क्योकि उसके दिमाग में यह बैठ जाती हैं कि वह उसे कभी नही तोड़ पायेगा .

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )

दोस्तों , हम में से कई एसे लोग  होते हैं जो किसी काम को नही करने के कारण अपने दिमाग में बहुत सारे नकरात्मक बाते बैठा लेते हैं की वह कभी सफल नही होगा और वह प्रयास करना छोड़ देते हैं . जो कही ना कही इसी  रस्सी की तरह ही होते हैं . तो हमें इस कहानी से सिख लेते हुए हमें इन हाथियों जैसे प्रयास करना नही छोड़ना चाहिए .


  3. दरवाजे पर बिल्ली -Top 10 Moral Stories in Hindi for kids.

एक समय की बात हैं  एक गाँव में एक लड़के का  शादी होकर आई हुई थी  , पुरे गाँव में खुशी का माहौल था . समय हो चूका था बहू की गृहप्रवेश कराने की . जब बहू घर के अंदर जाने लगी तभी दरवाजे के पास एक बिल्ली बहू का रास्ते काटने का  प्रयास किया मगर उसकी बूढी सास ने बिल्ली को पहले ही देख ली थी और उसने बिल्ली को दरवाजे के पास ही एक टोकरी से ढ़क दी . यह सब करते हुए हुए उसकी बहू ने देख ली थी , समय बीतता गया और एक दिन बूढी की मृत्यु हो गया . कुछ सालो बाद उस बूढी के बहू के बेटे की शादी होकर उसकी बहू घर आई . जब उसकी बहू को गृहप्रवेश होने लगी तब वह भी एक बिल्ली को दरवाजे के पास लाकर एक टोकरी से ढ़क दी उसे लगा मेरी सास भी मेरी गृहप्रवेश में एक बिल्ली ढकी थी . तब से जब भी उस गाँव में किसी बहू की गृहप्रवेश होता तब उसके दरवाजे पर टोकरी से बिल्ली ढकने की रिवाज चल पड़ी .  

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral ) 

दोस्तों, इस कहानी से यही सिख मिलती हैं कि हम किसी भी प्रथा को बिना  सोचे -समझे  ही अपना लेते हैं और समाज में डर फैला कर अधविश्वास का बढ़ावा देते हैं . हमें किसी भी प्रथा को बढ़ावा देने से पहले उसकी पूरी सचाई जान लेनी चाहिए क्योकि आपकी थोड़ी सी सहमती ही पुरे समाज में हमेशा -हमेशा के लिए डर पैदा कर सकती हैं तथा समाज में अन्धविश्वास के कारण लोगो की जाने भी जा सकती हैं .


4.लालची कुत्ताTop 10 Moral Stories in Hindi for kids. 

एक बार एक कुत्ते को बहुत जोर से भूख लगा हुआ था , वह भोजन के तलास में इधर-उधर घूम रहा था तभी उसे एक रोटी दिखाई दिया . वह दौड़ कर उस रोटी को पकड़ा और उसे किसी शांत जगह पर खाने की सोची . कुत्ता उस रोटी को अपने मुंह में दबा  कर तालाब के किनारे से जा रहा था तभी उसे पानी में उसकी परछाई दिखाई दिया . कुत्ता उसे देखकर सोचा यह दूसरा कुत्ता और उससे रोटी छिनने के लिए पानी में छलांग लगा दिया . कुत्ते कोदूसरी रोटी तो नही मिला परन्तु उसके पास पहले था वो भी पानी में बह गया . इस प्रकार उसे कुछ नही मिला . 

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral ) 

इस कहने से हमें यह सिख मिलती हैं कि हमें लालच नही करनी चाहिए क्योकि लालच एक बुरी चीज हैं जिससे फायदे के जगह नुकसान ही होता हैं .



5. बिल्ली और बंदर - Top 10 Moral Stories in Hindi for kids.  

एक गाँव में दो बिल्लियाँ रहती थी . दोनों आपस में बहुत प्यार से रहता था . एक दिन दोनों को एक रोटी मिली और उसे बराबर -बराबर  बाटने में  झगड़ा हो गया .एक बिल्ली को अपनी हिस्से की रोटी दूसरी बिल्ली के रोटी से छोटा लगा . परन्तु दूसरी बिल्ली को अपने हिस्से की रोटी बड़ा नही लगा . जब दोनों बिल्लियों सही समझौते पर सहमत नही हुआ तो दोनों बिल्लियाँ एक बंदर के पास गया . उसने सारी बात बतायी और उसने बंदर को न्याय करने को कहा . दोनों की बाते सुनकर बंदर एक तराजू लेकर आया और रोटी के दोनों टुकड़े को एक- एक पलड़े रख दिया . जिस पलड़े की रोटी ज्यादा होती उससे थोड़ी सी रोटी तोड़ कर अपनी मुंह में डाल लिया .परन्तु अब दूसरी पलड़े की रोटी ज्यादा हो गया तो बन्दर ने फिर से दूसरी पलड़े की थोड़ी रोटी तोड़ कर अपने मुंह में डाल लिया .इस तरह से जिस तरफ का रोटी ज्यादा होता , बंदर उस रोटी को तोड़ कर मुंह में डाल लेता . दोनों  बिल्लियाँ चुप-चाप बन्दर के फैसले  का इंतजार करती रही .परन्तु जब बिल्लियाँ ने देखा रोटी के टुकड़े बहुत छोटी हो गयो तब उसने बिल्ली से कहाँ रहने दीजिये हम दोनों आपस में ही बात लेगे.  बिल्ली के बात सुनकर बन्दर ने कहा , ठीक हैं जैसी तुम्हारी मर्जी मगर इतने मेहनत के लिए मुझे कुछ मजदूरी तो मिलनी चाहिए . उसके बाद बन्दर बच रहे शेष दोनों टुकड़े को भी अपनी मुंह में डाल लिया . और बिल्लियों को भगा दिया . दोनों बिल्लियों को अपनी गलती का एहसास हुआ और उसे समझ आ गया की जब अपने में फुट होता हैं तो बाहर के लोग इसके फायदे उठा लेते हैं . Moral Stories in Hindi 

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )

इस कहानी से हमें यह सिख मिलती हैं कि हम लोग को आपस में मिल कर रहना चाहिए क्योकि अक्सर दुसरे लोग आपसी फुट का फायदा उठाते हैं ना की सहायता करते हैं . 

6. चालाक खरगोशTop 10 Moral Stories in Hindi for kids.  

एक बार एक चीकू नाम का खरगोश अपनी पत्नी के साथ बाग में घूम रहा था . उस बाग में कई प्रकार के मीठे-मीठे फल लदे हुए थे . अंगूर से लदे पौधे को देख कर चीकू के पत्नी के मुंह में पानी आ गया उसने खरगोश को उसे तोड़ कर लाने के लिए बोला . परन्तु चीकू खरगोश ने उसे बताया यह बाग खूंखार भेड़िये का हैं अगर मुझे अंगूर तोड़ता देख लेगा तो वह मुझे जान से मार देगा . परन्तु उसकी पत्नी बिलकुल नही मानी और अंगूर तोड़  कर लाने के लिय जिद्द करती रही . आखिर चीकू खरगोश थक -हार कर अंगूर तोड़ने चला गया . जब वह अंगूर तोड़ रहा तभी उस बाग में उस बाग का मलिक भेड़िये को इधर आता दिखाई दिया . वह झट से पेड़ से नीचे उतर कर  सारे अंगूर लेकर एक ड्रम में घुस गया और अंगूर उसी में छोड़ कर वह वापस चला आया . भेड़िये बाग में आकर चीकू से पूछता हैं , क्या तुमने अभी एक खरगोश को देखा हैं जो इस बाग से अंगूर तोड़ रहा था . यह सुनकर चीकू खरगोश समझ गया कि भेड़िये मुझे फल तोड़ता हुआ मुझे नही देखा हैं . उसने फौरन कहा . हाँ  , वह फल तोडकर इस गड्रम में घुस गया हैं और अभी इसी के अंदर हैं . यह सुनकर भेड़िये गुस्से से उस ड्रम के अंदर घुस गया . इधर चीकू खरगोश और उसकी पत्नी दोनों मिल कर उस ड्रम का ढकन बंद कर दिया . जिसके कारण उस ड्रम में भेड़िये का मौत हो गया . इस प्रकार खरगोश अपनी बुद्धिमानी से अपनी जान तो बचाया ही उसके साथ उस बाग का मलिक भी बन गया .  

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )

इस कहानी से हमे यह सिख मिलती हैं कि हमे बुरे समय में घबराने के जगह अपनी बुद्धि का इस्तेमाल करनी चाहिए .


7.साधू की झोपडी Top 10 Moral Stories in Hindi for kids. 

किसी गाँव में दो साधू रहते थे . दोनों साधू भिक्षा मांग कर अपना गुजारा करते थे .वह दिन भर  पूरी समय भगवान के गुणगान करने में व्यतीत कर देते थे . एक दिन दोनों साधू भिक्षा मांगने अपने बगल के गाँव चले गये . उस गाँव में जाने के बाद अचानक से जोरो से आंधी आई और उसके साथ ही मुसलाधार वारिश होने लगी . उस आंधी ने कई लोगों के घर की झोपडिया और पेड़ को गिरा दिया . जब शाम को एक साधू अपने  घर पहुंचा तो देखा उसका आधा झोपडी गिर चूका हैं . ये देख कर उसे बहुत दुःख हुआ . वह  भगवान को कोसने लगा . हे ! भगवान तूने ये क्या कर दिया . मैं दिन भर तुम्हारी सेवा करता हूँ ,तुम्हारी भजन करता हूँ ,तुम्हारी महिमा गाता हूँ और तुम्ही ने मेरा घर उजाड़ दिया . जो लोग पाप करते हैं जो पापी हैं .जो चोरी करता हैं और जो ना तू आप की सेवा करता हैं ,  तूने तो उसके घर को कुछ नही किया . तुम सच में दयालु नही हैं . और पता नही क्या -क्या भगवान को बोला . परन्तु कुछ समय बाद दुसरे साधू वापस आय तो उसने आधी बची झोपडी को देख कर बहुत खुश हुआ और नाचने लगा . और कहा हे! भगवान तू सच में बहुत महान हैं . इस आंधी से किसी का ऐसा झोपडी नही बच सकता था परन्तु तूने मेरी झोपडी को आधा बचा लिया .तुमने मुझे सर छुपाने की जगह बचा लिया . तुम सच -मुच में  बहुत दयालु हैं . तूने मुझे अपने पूजा का फल दिया हैं . आज से तुम पर पहले से और  अधिक विश्वाश बढ़ गया . मैं आज से तुम्हारी पूजा और अधिक करूंगा . दुसरे साधू ने टूटे हुए भाग का अगले दिन मरमत करने का फैसला लिया और आज बचे हुए भाग में जाकर विश्राम करने लगा . Moral Stories in Hindi 

शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )

इस कहानी से हमे यह सिख मिलती हैं कि हमे हर काम में नकरात्मक बाते को अन्धेखा कर के हमें उसके सकरात्मक बाते को अपनाना चाहिए ,ऐसा ना की हम किसी काम में नकरात्मक बाते लेकर बैठे रहे .

8.भगवान भरोसेTop 10 Moral Stories in Hindi for kids. 

एक गाँव में एक मोहन नाम का एक व्यक्ति रहता था . वह भगवान का बहुत पूजा करता था उसे भगवान पर बहुत विश्वास था . एक दिन उसके गाँव कि नदी में काफी पानी आ गया . पानी का जल स्तर बढ़ता देख गाँव वाले घबराकर गाँव से कुछ लोग पलायन कर गये . मगर वह व्यक्ति बिना फिक्र कर आराम से उसी गाँव में रहा . देखते -देखते अगले दिन नदी का पानी उसके गाँव में घुसने लगा जिसके कारण गाँव के आधे लोग उस गाँव को छोड़ कर दुसरे गाँव में चले गये ,मगर यह व्यक्ति उसी गाँव में रहा क्योकि उसे भगवान पर काफी भरोसा था उसे लगता था मैं भगवान का इतना पूजा करता हूँ तो वह मेरी रक्षा जरुर करेगा . अब पानी लोगो के घरों में घुस रही थी . गाँव में दो-तीन लोग बचे थे वो भी अब गाँव छोड़ कर जा रहे थे और जाते समय मोहन को भी बोला , घर छोड़ कर चलो क्योकि अब यह सुरक्षित नही हैं कभी भी पुरे गाँव को डूबा सकता हैं . मगर मोहन ने उसकी बात ना मानी और कहा , आप लोगो जाओ मैं तो नही जायूँगा मेरी रक्षा ऊपर वाले करेंगे . पानी का स्तर धीरे -धीरे और बढ़ता ही जा रहा था . कुछ समय एक साधू आया जो उसी गाँव के किनारे में रहता था . साधू भी उसे घर छोड़ कर चलने को कहा मगर उसे भी यही कह कर मना कर दिया की मेरी रक्षा उपर वाले करेंगे . अगले दिन पानी पुरे गाँव के घरो को डूबा दिया सिर्फ सभी घरों कि छत बची हुई थी जो वो भी पानी के अंदर जाने वाला था . कुछ समय बाद सरकार की तरफ से सहायता करने वाले लोग हेलीकाप्टर से उसे बचाने आये मगर वह व्यक्ति उसके साथ भी नही गया और कहा चिंता करने की कोई बात नही हैं , मैं शुरक्षित हूँ . मेरी रक्षा भगवान करेंगे . इस तरह वह वही रह गया . मगर रात में पानी का स्तर काफी बढ़ गया और वह पानी में बह गया . जब वह व्यक्ति मरने के बाद भगवान के पास गया और उनसे पूछा हे ! भगवान मैं आपकी इतना सेवा करता था और आप पे इतना विश्वास करता था मगर आपने फिर भी मुझे क्यों नही बचाया . इस पर भगवान मुस्कुराये और बोला मैं तुम्हे बचाने कई बार गया हूँ . जब लोग पहली बार गाँव छोड़ रहे थे तब मैं ही तुम्हारे घर गया था . दूसरी बार मैं ही था तीसरी बार साधू बन कर मैं ही गया था . और तो और हेलीकाप्टर से मदद करने वाला भी मैं ही भेजा था परन्तु तूने अपने जिद्द के कारण नही आया और मृत्यु प्राप्त किया . इस पर आप वह व्यक्ति बोला तो मुझे बता सकते थे ना की मैं ही हूँ तो मैं जरुर आपके साथ चला जाता . इस पर भगवान फिर मुस्कुराये और बोले - अवसर कभी बता कर नही आता हैं तुम्हे खुद ही पहचानने होते हैं. इस बार वह व्यक्ति चुप रहा . Moral Stories in Hindi 




शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral ) 


इस कहानी से हमे यह शिक्षा मिलाती हैं की हमें भगवान के भरोसे कभी नही बैठना चाहिए अपने अच्छे अवसर का पहचान कर के आगे बढ़ते रहना चाहिए क्योकि भगवान भी उसी का हेल्प करते हैं जो खुद का हेल्प करता हैं .



9.बन्दर और ऊंटTop 10 Moral Stories in Hindi for kids. 


कई साल पहले की बात हैं . जंगल का राजा शेर ने सभी जंगली जानवरों को एक मेला लगाने को कहा और इस मेले में नाच-गाने का आयोजन भी कराने को कहा . साथ ही इस मेले में जो सबसे अच्छा नर्तकी होगा उसे पुस्कृत करने का फैसला लिया . सभी जानवर बहुत खुश होकर इसकी तैयारी में लग गये . जब मेला शुरू हुआ तो सभी जानवर अपनी -अपनी कला दिखाया . उसी जंगल में एक बन्दर भी रहता था . वह नाच -गाने के साथ अभिनय भी बहुत अच्छा कर लेता था . उसने भी मेले में अपना कला दिखाया .इसके नाच देख कर जंगल का राजा शेर काफी खुश हुआ और इसे विजेता घोषित कर दिया . यह देख कर ऊंट को काफी ईष्या हुआ और उसने राजा के फैसले को बदलने को कहा और उसने चुनौती रखा की इससे अच्छा मैं नाच कर सकता हूँ . शेर उसके चुनौती को स्वीकार किया और ऊंट को फिर से नाचने का मौका दिया . इस बार ऊंट ईष्या में नाच रहा था जो साफ़ दिख रहा था जिसके कारण वह पहले भी ज्यादा खराब नाचा . इसे देख कर शेर को गुस्सा हुआ और उसे जंगल से बाहर करवा दिया .  बंदर को पुस्कृत किया गया .



शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )

इस कहानी से हमें यह सिख मिलती हैं कि कभी भी दुसरे को देख कर ईष्या (जलन ) नही करना चाहिए क्योकि ईष्या से कुछ फायदा तो होता नही उससे हानी जरुर हो जाती हैं . 

10.शेर और तीन बैलTop 10 Moral Stories in Hindi for kids. 

एक बार की बात हैं . एक जंगल में तीन दोस्त बैल रहते थे तीनो में काफी घनिष्ट मित्रता थी . उसी जंगल में एक शेर भी रहता था . उसे पता था जब ये तीनो एक साथ रहेगे तब तक इसे मार पाना असम्भव हैं . इसलिए शेर ने तीनो को अलग करने की उपाय सोचा . शेर ने धीरे -धीरे तीनो को एक-दुसरे के बारे में अफवाह फैला दिया जिसके कारण तीनो बैलों में गलतफहमी पैदा हो गयी और तीनो की दोस्ती टूट गया . अब तीनो अलग -अलग रहने लगे . यह देख कर शेर काफ़ी खुश हुआ और  कुछ दिन बाद एक -एक कर तीनो बैलो को मार कर खा गया . 


शिक्षा : -  ( Hindi stories with moral )


इस कहानी से हमें यह सिख मिलती हैं कि एकता में ही बल हैं . जब हम अपने लोगो के साथ मिल कर रहते हैं तब तक हमें कोई नही कष्ट पहुचा सकता हैं . और जब आपस में फुट होती हैं तो तीसरे लोग इसका फायदा उठा लेते हैं . इसलिए हम-लोग को आपस में मिलजुल कर रहना चाहिए .



अंतिम शब्द - 

मुझे उम्मीद हैं top 10 moral stories in Hindi for kids पढ़ कर काफी अच्छा लगा होगा और इससे काफी कुछ सिखने को मिला होगा . अगर यह moral stories in hindi आपको अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के अलावे छोटे बच्चों को शेयर करें ताकि वोभी top 10 moral stories in hindi for kids पढ़ कर अच्छे आदते सीखें . Moral Stories in Hindi    

इससे सम्बन्धित कहानियां ( Moral Stories in Hindi ) 





·        बूढी मां   





इसे भी पढ़े  :- 



No comments:

Post a Comment

कमेंट करने के लिए दिल से आभार