Tuesday, August 13, 2019

अभिप्रिया की चिठ्ठी S01 - लव लेटर हिंदी में

                               
abhipriya-ki-chiththi-hindi-love-letter-love-letter-hindi-me-photo-jpg-love-letter-photo-hert-photo

अभिप्रिया की चिठ्ठी - S01   ( लव लेटर हिंदी में )

                                                                                                                        दिनांक
                                                                                                                                    14/08/2019


          मेरे जीवन                                                                                                                   
             प्रिया                                                                                                                     

               एक -दो  दिन से हमरा तबियत गड़बड़ाल था . आजे बढ़िया हुआ हैं तब तुमको चिठ्ठी लिख रहे हैं . इ एक - दो दिन में हम एक -दम सुख के काटा हो गये हैं . एक तो तबियत ख़राब था और दूसरा तुमसे मुलाकात भी नही हो रहा था .
    वैसे अब हमरा तबियत एक -दम मस्त हो गया हैं . और उम्मीद करते हैं तुम भी मस्त ही होगी .
सुने हैं कि तुमको देखने के लिए लड़का वाला आ रहा हैं . आजे दोस्त से पता चला हैं . इ बात सुन के तो हमरा दिमागे सून हो गया था .

     देखो ! तुही हमरा दिल के धडकन हो और हमरा खून के हिमोग्लोबिन . अगर तुम्हारा शादी कोई दूसरा लड़का से हो जायेगा तब हम तोर दरबाजा के चौखट पर अपना सर पटक के जान दे देंगे . बाकि तोरा बिना एक पल भी ना जी सकेंगे .
     और पगली , तू इतना टेंशन काहे लेती हैं , हम जल्दिये तोर दरबाजा पर बारात लेकर आयेंगे . खाली बस भगवान के कृपया से किसी तरह सरकारी नौकरी लग जाने दो . फिर तोर पापा से तोर हाथ मांगने अपना बाबु जी के तोरा घरे भेजेंगे .वैसे उम्मीद हैं इस बार रेलवे ग्रुप - डी में सेट हो जायेगा . काहे कि पढाई के साथ - साथ बाबू जी एक आदमी से बात चला रहे हैं जेकरा बहुत परवी ( किसी बड़े ऑफिसर से सम्पर्क ) हैं .
तुम बार - बार सिकायत करती रहती हो कि हम तुमको बहुत कम समय दे रहे हैं .
पगली ! देखती नही हो , आजकल कॉम्पटीसन केतना हार्ड हो गया हैं . एही से आजकल पढाई पर कुछ ज्यादा ध्यान दे रहे हैं .ताकि जल्दी नौकरी कर सकूं . वैसे इ सब तो तुम्हारे खातिर ना कर रहे हैं . ताकि हम जल्द से जल्द बियाह कर सके .
        और सुनो ! छत पर उस समय मत आना , जब अपने छत पर दिम्पलिया के मम्मी रहते हैं काहे कि उनको हम दोनों पर शक हो गया हैं . एही से उ बार - बार हम दोनों को देखते रहते हैं .वैसे तो हम जानते हैं " प्यार किया तो डरना क्या ! " लेकिन जब तक हम इसे छुपा सकते हैं तब तक इसे छुपाना ही सही हैं . बाकि उ दिन त पूरा दुनियां जान ही जायेगा , जब हम तुम्हारा घर डोली लेके आयेंगे . फिर देखना हमनियों के प्यार शारुख खान - काजोल जैसन हिट हो जायेगा .
                          कल जब तुमको देखें थे तब तुम हाथ में कुछ लगायी हुई थी . शायद ! मेहदी होगा ? वैसे डिजाइन तो बहुत अच्छा लग रहा था . आज शाम में मिलना तो मेहदी दिखाना कितना लाल हुआ हैं ? काहे कि लोग कहता हैं , हाथ में मेहदी जितना अधिक लाल होता हैं उसका पतिदेव उतना ही अधिक प्यार करता हैं . जरा हम भी देखेंगे हम तुमको कितना प्यार करते हैं .
    अब इ मत कहना , अभी आप मेरा पतिदेव  कैसे हुए ?
देखो 1 अब हमरा ट्यूशन का समय हो रहा हैं . इसलिए ज्यादा नही लिख रहे हैं . नही तो हमरा दिल में इतना बात हैं लिखने के लिए , अगर पूरा लिखना चाहेंगे तब कागज और कलम भी कम पड़ जायेगा .
      अच्छा ! अपना ख्याल रखना , समय से खाना खाना और पढाई पर ध्यान के साथ अपने मम्मी - पापा का भी ख्याल रखना . और हाँ ! तुम अपना चिठ्ठी गौरवा के हाथे भेजवा देना उ हमारा लाकर दे देगा .
                       प्यार , आशीर्वाद सहित ,  आई लव यू जानेमन !

                                                                                                                                        सिर्फ तुम्हारा  
                                                                                                                                           अभिप्रिया 


© अविनाश अकेला


इसे भी पढ़ें - 

* अभिप्रिया की चिठ्ठी S02 - ( लव लेटर हिंदी में  )

*अभिप्रिया की चिठ्ठी - S03 ( लव लेटर हिंदी में )

" अभिप्रिया की चिठ्ठी " के बारे में अधिक जानकारी के  लिए यहाँ क्लिक करें 



No comments:

Post a Comment

कमेंट करने के लिए दिल से आभार