Wednesday, July 24, 2019

बबिता : स्कुल लाइफ लव स्टोरी इन हिंदी Hindi Love Stories



बबिता : स्कुल लाइफ लव स्टोरी इन हिंदी Hindi Love Stories 

हिंदी-लव-स्टोरी-स्कुल-लाइफ-लव-स्टोरी-फोटो-लव-फोटो-हिदी-लव-कहानी-फोटो

वह बावली थी मगर समझदार भी थी , वह हमेशा दिमाग की  जगह दिल का इस्तेमाल किया करती थी.उसे लडके -लडकियां  में ज्यादा फर्क महसूस नही होती थी .ना उसे किसी लड़के से दुश्मनी रहता था और नही किसी लड़कियों से .वह बिलकुल बिंदास थी . उसे अक्सर किसी ना किसी लड़के से गप्पे मारता देखा जा सकता था .लड़के हमेशा उसे किसी ना किसी का गर्ल फ्रेंड सिद्ध करने में लगा रहता था .अगर कोई बात को पूरी कक्षा में फैलानी हो तो उस बात को  बस उस बाबली लड़की तक पंहुचा दो कुछ क्षण बाद वो बात पूरी विधालय में फ़ैल जाती थी . वह हमेशा लडको वाली सीटें पर बैठ कर किसी ना किसी लड़के का सेटिंग करवाती रहती थी. लेकिन उसकी सेटिंग किस लड़के से था यह एक अनसुलझे पहली थी . विधालय के हर लड़का कहता था यार ! ये मेरी सेटिंग हैं परन्तु कभी किसी का कन्फर्म नही मालूम हुआ .
       मुझे लगता हैं , इस तरह की लड़की हर विधालय के प्रत्येक कक्षा में रहती हैं . इसे कुछ बच्चे गन्दी लड़की समझती हैं तो कुछ बेशर्म . इसके बारे में सभी का अपना - अपना मत होती हैं . मेरी कक्षा में भी इसी तरह की एक लड़की थी बबिता .

स्कुल लाइफ लव स्टोरी इन हिंदी Hindi Love Stories 

   वह सुंदर तो बहुत थी , गोर गाल , गलों पर काली तील , गुलाबी होठ और भूरे बाल . उसके सामने मेरे क्लास कि सभी लड़कियां किसी बंदरी से ज्यादा नही देखती थी .
कक्षा के सभी लडको का मानना था - बबिता की  अफेयर कइ  लडको से हैं . कभी - कभी तो  अपने स्कुल के ही टीचर राकेश वर्मा से अफेयर की बात उडती रहती थी .
   मुझे पता नही इस तरह की बातों को हवा कौन देता था ? खैर ,जो भी हो उसे इन सारी बातों से ज्यादा असर नही पड़ती थी .  वह मुझसे भी बहुत बाते किया करती थी . लेकिन मेरे दिल में वह मेरे लिए  एक दोस्त से ज्यादा कुछ और  नही थी  .वह भी इस बात को अच्छी तरह से जानती थी . क्लास में जब भी उसे टाइम मिलती थी , मुझसे थोड़ी बहुत बातें कर ही लिया करती थी .
      बबिता मुझे से हमेशा पूछती थी , तुम्हारा कोई गर्लफ्रेंड हैं या नही . तो मैं मुस्कुरा कर ना कह देता था .
मेरे क्लास में एक ज्योति नाम कि लड़की थी . वह बबिता से बिल्कुल विपरीत थी . ना किसी से ज्यादा बातें करती थी और नही किसी लफड़ों में पड़ती थी . मुझे ज्योति बहुत अच्छी लगती थी . मैं ज्योति को पसंद करने लगा था . शायद वह भी मुझे पसंद करती थी . मैं जब भी क्लास में अकेला रहता था तो वह मुझे से बातें जरुर करती थी . और पढाई के समय भी उसकी एक नजरे मेरे तरफ ही टिकी रहती थी .
ज्योति को मालूम थी की मैं उसे प्यार करता हूँ . बस हम दोनों ने अभी तक  एक दुसरे को प्रपोज नही किया था .
मुझ में इतनी हिम्मत भी नही थी की मैं उसे प्रपोज कर पाता . मैं कइ दिनों से ज्योति को प्रपोज करने का तकरीव खोज रहा था परन्तु मैं असफल था . फिर एक दिन मेरे दिमाग में ख्याल आया " क्यों ना ! अपनी लव लेटर बबिता के हाथों ज्योति को दिलवा दूँ "

स्कुल लाइफ लव स्टोरी इन हिंदी Hindi Love Stories 


यह आईडिया मुझे अच्छा लगा . वैसे भी बबिता एक दम विंदास लड़की थी .पूरी क्लास के  लडको को सेटिंग करवाने के लिए फेमस थी  .

मैं अगले दिन स्कुल थोडा जल्दी चला गया था . क्योकिं मुझे ज्योति के बारे में उससे कुछ बातें करनी थी . मैं स्कुल के अंदर वाली सीढियों पर बैठ कर बबिता के इंतजार कर रहा था .
अचानक से मेरे आंखे चमका , मैं खुशी से झूम गया . मेरे आस -पास रोमांटिक गाने की धुनें सुनाई पड़ने लगा . क्योकिं मेरे सामने से  ज्योति आ रही थी . मुझे लगने लगा भगवान मेरी सुन ली हैं . वह खुद मेरे पास ज्योति को मुझसे मिलने भेज रहा हैं .
वह मेरे पास आयी . मैं उसे देख कर मुस्कुराया लेकिन उसने मेरे मुस्कान पर कोई रिएक्ट नही किया .
" मुझे तुम से कुछ बात करनी हैं ." ज्योति मुझ से थोड़ी गंभीर हो कर बोली .मुझे उसकी बात  सुनकर बहुत खुशी  हुआ . मुझे लगने लगा . ज्योति खुद मुझे प्रपोज करने वाली हैं .
परन्तु ज्योति ने उसके बाद जो बोला उसे सुनकर मेरी पैर तले जमीन खिसक गयी थी . वह मुझसे से काफी नाराज थी . उसे किसी से पता चली थी की मेरा अफेयर बबिता से चली रही  हैं .
" मैं तुम्हे बहुत अच्छा लड़का समझता था , इसलिए तुम्हे पसंद करने लगी थी . लेकिन ये पता नही था की तुम इतने गिरे हुए इन्सान निकलोगे . मुझे तुमसे नफरत सी हो गयी हैं . " वह बिना रुके ये सारी बातें बोलती रही .
वह मुझे इतनी समय भी नही दे पायी की मैं कुछ सफाई दे पायुं .
मेरा सारा सपना वहां टूट कर सडकों पर बेजान से चित होकर बिखर रहा था . मैं कुछ उसे बोल पाता तब तक वह रोती  हुई क्लास के तरह चली गयी .
उस दिन के बाद वह मेरी तरफ कभी नजरे नही घुमाई . मैं उससे कई बार बात करने कि कोशिश किया  परन्तु वह बिना जबाब दिए ही चली  जाती थी  .
मुझे अपनी गलती समझ नही आ रही थी . आखिर मेरी क्या गलती थी . आखिर बबिता तो सभी लडको  से बात करती थी . शायद उसके कई लड़के से अफेयर भी था . लेकिन मेरा तो उसके साथ कोई लेना - देना नही था ना ! और अभी तक किसी ने यह सत्यापन भी नही किया था की बबिता का सबंध कई लडको से हैं . सिर्फ सभी से हंस कर बात कर लेने से कोई थोड़े ना बुरा या गंदा हो जाता हैं .

स्कुल लाइफ लव स्टोरी इन हिंदी Hindi Love Stories 

 चलो मैं ये बात मान भी लेता हूँ , बबिता का सबंध कमेस्ट्री वाले सर से था .  तो इसमें मेरा क्या गलती था . ये सारी बातें सोच - सोच कर परेसान रहने लगा . अगर बबिता से मुझे बात करना उसे अच्छा नही लगता था तो वह मुझे मना भी तो कर सकती थी . उसके लिए तो  मैं सारी दुनिया  से बात करना छोड़ सकता था फिर बबिता से क्यों नही .
मैं ज्योति को बहुत प्यार करने लगा था . जिसके कारण  उसके नाराजगी हम से सहा नही जा रहा था . इसलिए मैंने अपने घर वाले से बोल कर  अपना स्कुल बदलवा दिया और मैं दुसरे विधालय में पढने जाने लगा .
यहाँ आने  के बाद भी उसकी यादें सता रही थी . परन्तु उसे किस मुंह से याद करता उसने मुझे चरित्रहिन् जो साबित कर रखी थी .
           कुछ महीने बाद मुझे एक दोस्त ने बताया था , ज्योति को उस स्कुल से निकल दिया गया हैं जिस स्कुल में मैं और वो पढ़ते थे .  क्योकिं उसके  दो लडको के साथ गलत सबंध के बारे में प्रिंसिपल को पता चल गया था .
यह सुनकर मुझे बहुत दुःख हुआ . क्योकिं मुझे उससे कभी ऐसी उम्मीद नही थी . 

By : - अविनाश अकेला

इसे भी पढ़ें      {Hindi Love Stories }

  * स्कुल डायरी  

 * फेसबूकिया प्यार  A FUNNY STORY



 * सफलता पाने के लिए सही दिशा में मेहनत करनी चाहिए 



No comments:

Post a Comment

कमेंट करने के लिए दिल से आभार